सुशांत के पूर्व स्टाफ मेंबर अंकित आचार्य का बड़ा खुलासा, बोले- ‘हमेशा डरावनी कहानी सुनाती थीं रिया’

Ankit Acharya  and Sushant 
Image Source : INDIA TV

सुशांत सिंह राजपूत के स्टाफ मेंबर अंकित आचार्य से इंडिया टीवी से एक्सक्लूसिव बातचीत करते हुए बड़ा बयान दिया है। अंकित ने सुशांत के साथ 2017 से 2019 जुलाई तक 3 साल काम किया। अंकित ने बात करते हुए कहा कि यह वो सुशांत नहीं थे जिनके मैं इतने करीब था, पूरी तरह उल्टा बर्ताव हो गया था उनका।दोस्तों से मिलते घूमते फिरते थे तब रिया उनके उतनी करीब नहीं थीं। हमारी नौकरी छुड़वाने के बाद रिया मालकिन बन गयी थीं।

अंकित ने आगे कहा कि सुशांत भैया पूरी तरह बदल गए पता नहीं क्या किया था। रिया से पहले सुशांत बहुत ही जिंदादिल इंसान थे, सुबह उठते ही महामृत्युंज सुनाना, चांद तारों की बाते करना उन्हें पसंद था। घूमते फिरते थे दोस्तों से मिलते थे, पार्टी भी करते थे करीबी दोस्तों के साथ। वो खुद से वर्चुअल गेम भी लौंच करने की तैयारी में थे। उन्होंने मुझे और अशोक को फार्मिंग के बारे में भी बताया था। यहां तक कि वो हमें पावना डैम के फार्म हाउस पर भी साथ ले गए थे, बहुत खुश थे इतना खुश कभी नहीं देखा था। 4 महीने का ब्रेक लेकर फार्मिंग करना चाहते थे, हमे फार्मिंग का लोकेशन भी दिखाया था।

जुलाई 2019 दिल बेचारा की जमशेदपुर की शूटिंग के बाद मैं घर चला गया अपने इसलिए मेरी नौकरी छूट गयी। जब अक्टूबर 2019 में उनसे मिलने कैफी हाइट्स बांद्रा के घर में गया तो उनका बर्ताव पूरी तरह बदल गया था। तब रिया भी उनके साथ थीं। सुशांत जिस तरह पहले मिलते जुलते थे तब वैसे नहीं थे। 3 साल उनके साथ 24 घंटे था इतना तो जनता हूं कि उनका चेहरा काला पड़ गया था और शांत हो गए थे।

सुशांत के पूर्व स्टाफ का बयान, ‘रिया के जिंदगी में आने के बाद वो पूरी तरह बदल गए थे’

सुशांत हमेशा खुश होकर गले लगते लेकिन जब बांद्रा के घर में मिलने गया तो तब वैसे नहीं थे। मैंने उन्हें नौकरी के लिए मार्च 2020 में फोन किया था लेकिन फोन नहीं लगा क्योंकि उनका दोनों नंबर बदल दिए गए थे। अशोक और मैं सुंशात भैया के करीबी थे लेकिन रिया ने अशोक को निकाल दिया था क्योंकि सुशांत को खाना कब देना है और कितना यह तक रिया तय करती थीं अशोक बता रहा था। सुशांत भैया को भूत प्रेत की कहानी सुनाती थी रिया, अशोक ने बताया था। मेरे साथ जो भी काम करते थे सबको रिया ने निकाल दिया था। 

(रिपोर्ट नम्रता दुबे)

Go to Source